*BREAKING:*2017-18 और 2018 की रिक्तियों के एवज में वरिष्ठ अनुवादकों की पदोन्नति के लिए एपीएआर और शास्तियों के साथ सतर्कता निकासी प्रमाणपत्र भेजना भी ज़रुरी *दिसम्बर,2018 में विभागीय पदोन्नति समिति की एक और बैठक के प्रयास ज़ोरों पर *उप-निदेशक(राजभाषा) के तौर पर पदोन्नति हेतु संयुक्त सेवावधि के प्रावधान को बहाल करने के लिए भर्ती नियमों में आशोधन की फाइल डीओपीटी को भेजे जाने की ख़बर *कनिष्ठ अनुवादकों की पदोन्नति के आदेश जारी करने की प्रक्रिया अंतिम चरण में *एसोसिएशन ने कनिष्ठ अनुवादकों के लिए 4600/-रु. के ग्रेड-पे की मांग को लेकर अदालत जाने का निर्णय लिया;सभी संबंधितों से संगत दस्तावेज़ उपलब्ध कराने का आग्रह।

Thursday, 28 January 2016

सचिव को विस्तृत अभ्यावेदन सौपा गया

संवर्ग पुनर्संरचना के आदेश संख्या 15/3/2005-OL(S) दिनांक 12.09.2011 के पैरा 2 में दिए गए अनुमोदन के अनुसरण में सहायक निदेशक के स्तर पर परिणामी रिक्तियों (Resultant Vacancies) के 112 पदों को Seniority के माध्यम से promotion द्वारा भरने के संबंध में राजभाषा विभाग में अनावश्यक रूप से पैदा हुई गलत अवधारणा को समाप्त करने के लिए अनुवादक एसोसिएशन द्वारा सचिव, राजभाषा विभाग को दिनांक 14 जनवरी, 2016 को हुई बैठक हेतु बहुमूल्य समय देने के लिए आभार प्रकट करते उन्हें दिनांक 25 जनवरी, 2016 को एक बिस्तृत अभ्यावेदन सौपा गया है, जिसमें उन्हें निम्नलिखित तथ्यों की जानकारी दी गई- 

1.0 सहायक निदेशक के स्तर पर परिणामी रिक्तियों के 112 पदों को Seniority के माध्यम से promotion द्वारा भरने के लिये भर्ती नियम - 2006 में किसी प्रकार का संशोंधन करने की कदापि आवश्यकता नहीं है, और न ही किसी प्रकार के Executive Orders जारी करने की आवश्यकता हैI 

2.0 जहाँ तक सामान्य रिक्तियों (Normal Vacancies) को भरने के लिए भर्ती नियम -2006 में भर्ती के तरीके (अर्थात Promotion-50% : Direct Recruitment-50%) के प्रावधान का संबंध है, वह संबंधित वर्ष की सामान्य रिक्तियों (Normal Vacancies) को भरने के लिए भी लागू नहीं होते हैं, क्‍योंकि छठे वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुसार सहायक निदेशक (रा.भा.) के पद को ग्रुप ‘ए’ में रखा गया था, जबकि विभाग के पास भर्ती नियम ग्रुप ‘बी’ पद के लिए उपलब्‍ध है, जोकि ग्रुप ‘ए’ पद के लिए लागू नहीं होते हैं। 

3.0 सामान्य रिक्तियों (Normal Vacancies) को भरने के लिए दिनांक 12.09.2011 से 30.04.2015 (नए भर्ती नि‍यम, 2015 के अध‍सिूचित होने के पूर्व) तक की मध्यावधि (intervening period) के लिए भर्ती के तरीके में संशोधन के लिए Executive Orders जारी करने का अनुरोध एसोसिएशन अपने दिनांक 10 जुलाई 2015 के पत्र संख्या CSOLSTA/56/1/2012 के तहत पहले ही कर चुकी है, ताकि संवर्ग पुनर्संरचना के क्रियान्वयन के बाद सृजित होने वाली सामान्य रिक्तियों को समिति की सिफरिशों (अर्थात Promotion-75% : Direct Recruitment-25%) के अनुसार भरा जा सके I 

4.0 परिणामी रिक्तियों को भरने के तरीके (100% by Promotion) को सामान्य रिक्तियों (Normal Vacancies) के प्रतिशत (50% by Promotion) से जोड़ना इस संबध में भारत सरकार की तमाम केंद्रीय सेवाओं में अपनाई जा रही प्रकिया का उल्लंघन है I 

5.0 CSSS की संवर्ग पुनर्संरचना- 2011 के मूल पुनर्संरचना आदेश और CSOLS की संवर्ग पुनर्संरचना- 2011 के मूल पुनर्संरचना आदेश दोनों में ही परिणामी रिक्तियों को Seniority के माध्यम से promotion द्वारा भरने तथा भर्ती नियमों में संशोधन करने का समान रूप से अनुमोंदन किया गया है I उल्लेखनीय है कि CSSS की संवर्ग पुनर्संरचना- 2011 के क्रियान्वयन में परिणामी रिक्तियों को भरने के लिए भर्ती नियमों में कोई संशोंधन नहीं किये गए है और न ही किसी प्रकार के Executive Orders जारी किये गए है, क्योंकि संवर्ग पुनर्संरचना के मूल आदेश में ही परिणामी रिक्तियों का प्रावधान किया गया है I CSSS की संवर्ग पुनर्संरचना- 2011 के सिर्फ मूल आदेश के आधार पर परिणामी रिक्तियां भरी गई है I इस बात का सत्यापन कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग (DOPT) के CS.II Division से भली – भांति किया जा सकता है I 

6.0 यह भी वास्तविकता है कि CSS की संवर्ग पुनर्संरचना -2003 और CSSS की संवर्ग पुनर्संरचना -2005 के क्रियान्वयन के तहत Executive Orders जारी किये गए थे, क्योंकि इन संवर्ग पुनर्संरचनाओं के मूल आदेशों में परिणामी रिक्तियों के प्रावधानों का उल्लेख नहीं था I 

7.0 वरिष्ठ अनुवादक की दिनांक 29.05.2015 की वरिष्ठता सूची में प्रथम स्थान पर श्री राजेश तनेजा और 160 वें स्थान पर श्री झारखंडे सिंह है I इनमें से 48 वरिष्ठ अनुवादकों को संवर्ग पुनर्संरचना से पूर्व की अवधि ( रिक्ति वर्ष 2008-09, 2009-10 और 2010-11 ) के विरूद्ध सहायक निदेशक के पद पर पदोन्नति (now regularisation) के लिए मई, 2015 में हुई डीपीसी में कवर किया जा चुका है (विश्वस्त सूत्रों के अनुसार ) तथा शेष 112 वरिष्ठ अनुवादकों को CSOLS की संवर्ग पुनर्संरचना - 2011 में सृजित हुई 112 परिणामी रिक्तियों के विरूद्ध रिक्ति वर्ष 2011-12 में ही तत्कालीन सचिव महोदय के विवेक और अनुमोदन से तदर्थ आधार पर पहले ही प्रोन्नत किया जा चुका है I  
8.0 परिणामी रिक्तियों को एक बारगी उपाय के रूप में संवर्ग पुनर्संरचना वर्ष में ही भरना होता है, अर्थात en bloc seniority/en bloc promotion for stagnating employees अर्थात no interpolation with DR quota अर्थात not applicability of DR/PR ratio (percentage) in existing recruitment rules,

अन्यथा इस संवर्ग पुनर्संरचना में परिणामी रिक्तियों के वाजिब हकदार वरिष्ठ अनुवादकों (वर्तमान में तदर्थ सहायक निदेशक) की अगली पदोन्नतियां समाप्त हो जायेगी और उनके साथ सीधी भर्ती के अभ्यर्थियों का अनावश्यक रूप से interpolation होने की दशा में इस संवर्ग पुनर्संरचना का मूल उद्देश्य ही पूर्णत: समाप्त हो जाएगा I

9.0 वर्ष 2027 तक अर्थात मात्र 11 वर्षों बाद सीधी भर्ती से आने वाले अभ्यर्थियों में से 18 अभ्यर्थी निदेशक के पदों पर और शेष संयुक्त निदेशक के पदों पर काबिज हो जायेंगे I यह स्थिति इस संवर्ग में अब तक के सबसे बड़े उपचारहीन stagnation को जन्म देगी I

10.0 चार वर्षों से लम्बित इस संवर्ग पुनर्संरचना के क्रियान्वयन के प्रथम वर्ष (अर्थात Resultant vacancy year 2011-12 ) की रिक्तियों के लिए वरिष्‍ठ अनुवादक से सहायक निदेशक के पद पर की जाने वाली 102 पदोन्‍नतियों (वस्‍तुत: तदर्थ सहायक निदेशकों का नियमितिकरण) में 112 परिणामी रिक्तियों में से केवल 34 रिक्तियां शामिल हैं, अंत: इन 34 पदोन्‍नतियों के साथ संवर्ग पुनर्सरचना का क्रियान्‍वयन करने से यह अन्‍याय की एक मिसाल बनेगी ।

11.0 संवर्ग पुनर्संरचना-2011 के आदेश के अनुसरण में 112 परिणामी रिक्तियों पर वरिष्ठता सूची में 160 वें स्थान पर श्री झारखंडे सिंह तक विचार किये गए 112 तदर्थ सहायक निदेशकों को संवर्ग पुनर्संरचना का क्रियान्वयन इसकी मूल भावना के अनुरूप परिणामी रिक्‍ति वर्ष 2011-12 की रिक्तियों के विरूद्ध नियमित किया जाय I

 *********

1 comment:

  1. 1. Thanks for sharing information.
    2. Here you have talked only about regularisation of 160 adhoc ads, what about remaining 44 posts that can immediately be filled by promoting 44 eligible senior translators??? In 160 adhoc ads too, 25 to 30 ads have already retired/opted VRS etc. What about these vacancies. These vacancies can also be filled right now.As number of senior translators are now eligible for promotin.
    3. In translatiors list many translators have completed three years eligibility period in december 2015. Now they can be considered for even regular promotion. While regularisaing 160 ads these posts can also be filled by regular promotion from eligible senior translators.
    4.There seems to be some misunderstanding in counting vacancies for DRs. Vacancies should have been counted from vacant posts and not from totol strength ie. 50 posts are 25% of total strength of 204 posts. If suppose 40 posts are vacant, only 10 vacancies need to be filled by DRs and rest 30 posts should be filled by promotion. Have you talked about this in the meeting.
    5.This forum can be very useful forum, it should be extensively used for interaction.If regular meetings can't take place. Union can talk here.We can have useful interaction. We can take and give suggestions here .
    Thanks and wishing for speedy success.
    PKSharma,DOT

    ReplyDelete

अपनी पहचान सार्वजनिक कर की गई आलोचना का स्वागत है। किंतु, स्वयं छद्म रहकर दूसरों की ज़िम्मेदारी तय करने वालों की और विषयेतर टिप्पणियां स्वीकार नहीं की जाएंगी।