*BREAKING: *राजभाषा विभाग के दिनांक 3 जुलाई,2018 के कार्यालय-ज्ञापन के संदर्भ में,2016-17 की रिक्तियों के लिए वरिष्ठ अनुवादकों की पदोन्नति का कार्य प्रगति पर; डीपीसी की बैठक अगस्त में ही संभावित। *उप-निदेशक(राजभाषा) के तौर पर पदोन्नति हेतु संयुक्त सेवावधि के प्रावधान को बहाल करने का प्रस्ताव राजभाषा विभाग के विचाराधीन। *सहायक निदेशकों को रिवर्ट किए जाने के खिलाफ दायर मामले में कैट,दिल्ली ने 22 मार्च,2018 को सुनवाई करते हुए स्थगन आदेश जारी किया। *रिवर्ट किए गए सहायक निदेशकों से रिफंड लेने का नियम नहीं।

Friday, 18 March 2016

वरिष्ठ अनुवादकों की पदोन्नति/तदर्थों के नियमितीकरण के आदेश जारी

लंबे जद्दोजहद के बाद,राजभाषा विभाग ने आख़िरकार, वरिष्ठ अनुवादकों को नियमित आधार पर पदोन्नत करने करने तथा तदर्थ सहायक निदेशकों के नियमितीकरण आदेश जारी कर दिए हैं-
वर्ष २०१४-१५ की रिक्तियों के एवज में ०८ लोगों का नियमितीकरण हुआ:

वर्ष २०१३-१४ की रिक्तियों के लिए कुल ०४ नियमितीकरण:
http://rajbhasha.nic.in/pdf/sewa17mar16-3.pdf

वर्ष २०१२-१३ में २५ लोगों के नाम:
http://rajbhasha.nic.in/pdf/sewa17mar16-5.pdf

वर्ष २०११-१२ की रिक्तियों के एवज में ५५ लोगों के आदेश:

वर्ष २०१०-११ की रिक्तियों के लिए २७ नियमितीकरण आदेश:

वर्ष २००९-१० की रिक्तियों के एवज में १५ लोगों के आदेश:

वर्ष २००८-०९ की रिक्तियों के लिए १४ लोगों के आदेश:


संवर्ग के सभी साथियों को बधाई और शुभकामनाएं।

8 comments:


  1. At last, Rajbhasha vibhag has acted under pressure. It is good that 148 translators have been regularised as ADs, many of them already retired. I don't know how it is going to benefit retired staff. Further, date of regularisation is questionable, it should have been date of occurance of vacancy. In fact, if you consult seniority list, officers upto Shri Arshad Hussain have been promoted. Congratulations to all these officers.

    ReplyDelete
  2. Finally the much anticipated/awaited orders issued.CONGRATULATIONS. But certain points still left unanswered/unclear:
    1. what about filling up of resultant vacancies in the post of AD i.e. 44 additional posts created in the year of restructuring (2011-12) vide which the total strength of ADs were raised from 158 to 202.
    2. what about filling up the posts of ADs vacated on account of promotion from AD to DD in 2012 and in 2013 (totalling to 74)

    ReplyDelete
  3. We should appreciate the efforts made by Shri Brijbhan, Dy. Director and Gen. Secretary of
    csolsgroupaofficersassociation
    with regard to meeting honble.Home Minister, Minister of state Home, Senior functionaries of Home Ministry. May God give him strength to work towards our
    welfare. I offer heartiest congratulations to one and all.

    ReplyDelete
  4. Of course he and his team deserve kudos and now all 204 posts should be filled by regular promotion by seniority and than vacant posts should be counted and should be filled in one go. All vacancies must be filled from the date of occurance of vacancies.

    ReplyDelete
  5. Thanks so much for posting it. Our dreams have become a reality due to your constant efforts. As we all know, it will have a significant impact of promotion of ADs, STs and JTs. Well done, keep up the good work.

    ReplyDelete
  6. राजभाषा विभाग द्वारा दिनांक 17.03.2016 को तदर्थ सहायक निदेशकों को वर्ष 2008-09 से 2014-15 की रिक्तियों के विरूद्ध नियमित करने संबंधी निकाले गए कार्यालय आदेश पर थोड़ी नजर दौडा़एंगे, तो पाएंगे कि
    1.नियमित किए गए कुल 148 सहायक निदेशकों में से 29 ऐसे बंधुजन है (अभागे)(थे), जिनका या तो देहावसान हो गया है अथवा वीअारएस ले लिया है अथवा अधिवर्षिता की आयु प्राप्‍त होने पर सेवा से निवृत हो गए हैं। इनका ब्‍योरा इस प्रकार है:-(2008-09(01), 2009-10(08), 2010-11(03),2011-12(11) और 2012-13(06)
    2.इसी प्रकार,नियमित किए गए कुल 148 सहायक निदेशकों में से 24 ऐसे बंधुजन हैं (अभागे)(थे) जिनका कोई अता-पता नहीं है अर्थात इनका नाम न तो व. अनुवादकों की सूची में है और न ही सहा. निदेशकों की सूची में। कृपया इनके बारे में किसी बंधुजन को कुछ पता हो तो कृपया स्‍पष्‍ट करने का कष्‍ट करें कि आखिर इनका नाम कहां लिया गया। इनका ब्‍योरा इस प्रकार है:-(2008-09 (10), 2009-10 (04) और 2010-11 (10)
    3. इस प्रकार,नियमित किए गए कुल सहायक निदेशकों में से वास्‍तविक रूप से केवल 94 (148-(29+24) 54) सहायक निदेशक नियमित किए गए हैं।
    4. इसके अलावा, इन आदेशों में और भी कई त्रुटियां हैं जिनके बारे में राजभाषा विभाग को अलग से लिखा जाएगा। आप भी पता लगाइए,शायद आपको भी कुछ नजर आए, जो मुझे नहीं आई हो।

    ReplyDelete
  7. जानकारी देने के लिए धन्यवाद। कृपया नियमित रूप से पदोन्नत और अर्हता को पूरा करने वाले सहायक निदेशकों की उप निदेशक के रूप में पदोन्नति करवाने की व्यवस्था करें जिससे सहायक निदेशक के परिणामी रिक्त पदों पर वरिष्ठ अनुवादकों की और इनके रिक्त पदों पर कनिष्ठ अनुवादकों को पदोन्नत करने का अवसर उत्पन्न हो सके।

    ReplyDelete
  8. जानकारी देने के लिए धन्यवाद। कृपया नियमित रूप से पदोन्नत और अर्हता को पूरा करने वाले सहायक निदेशकों की उप निदेशक के रूप में पदोन्नति करवाने की व्यवस्था करें जिससे सहायक निदेशक के परिणामी रिक्त पदों पर वरिष्ठ अनुवादकों की और इनके रिक्त पदों पर कनिष्ठ अनुवादकों को पदोन्नत करने का अवसर उत्पन्न हो सके।

    ReplyDelete

स्वयं छद्म रहकर दूसरों की ज़िम्मेदारी तय करने वालों की और विषयेतर टिप्पणियां स्वीकार नहीं की जाएंगी।